7 Tips For How can I save battery for a long time In Hindi

7 Tips For How can I save battery for a long time In Hindi

इस Post में आज मैं बात करने वाला हूँ मोबाइल बैटरी या लैपटॉप बैटरी से रिलेटेड ऐसी चीज़ है जो आपको नहीं पता मैं आपको तरीके बताऊँगा जिससे आप अपने फ़ोन या लैपटॉप को पांच से छे साल चला सकते हैं इन टर्म्स ऑफ बैटरी तो बहुत ज्यादा चलाने के लिए इस post को Padhte रहे और  इसके साथ शुरू करते हैं.

7 Tips For How can I save battery for a long time In Hindi

1.कभी भी डुप्लिकेट चार्जर को इस्तेमाल मत करो

ये कुछ मजेदार बैटरी की टिप्स कभी भी डुप्लिकेट चार्जर को इस्तेमाल मत करो ऐसा कोई चार्जर इस्तेमाल मत करो जो बहुत सस्ता आया हो Ya किसी कंपनी का ना हो या जिसकी पावर रेटिंग आपके ओरिजनल चार्जर की पावर रेटिंग के साथ मैच ना करती हों ये आपके फ़ोन को खराब कर सकता है.

Read Also5 Best Tips How to Increase WiFi Speed in Hindi

2.Avoid करें अपने फ़ोन को पावर बैंक से चार्ज

Avoid करें अपने फ़ोन को पावर बैंक से चार्ज करने का मतलब पावर बैंक अगर आपके पास है तो वह सिर्फ तभी इस्तेमाल होना चाहिए जब आप हो जब आप सफर कर रहे हो अगर आप ऐसी जगह पर हो जहाँ पर पावर आउटलेट है

जहाँ पर आप चार्जर इस्तेमाल कर सकते हो, Avoid करें वहाँ पर अपना पावरबैंक इस्तेमाल करना पावरबैंक आजकल सस्ते से सस्ता आ रहा है और उसके अंदर जो सर्किट लग रहा है वो कॉस्ट कटिंग के लिए क्योंकि लोग चाहते हैं सस्ते से सस्ता पावर बैंक है

कपैसिटी का पावर बैंक पावर बैंक को बनाने में उनकी सेल्स लगते हैं जो कि बहुत महंगे आते हैं, सेल्स होते है तो उसकी कॉस्ट कटिंग के लिए वो लोग सर्किट सस्ता वाला लगाते हैं

जो की जो करेंट देता है वो बहुत फ्लक्चूएट करता है और उतना पर्फेक्ट करेंट नहीं होता ये करेंट जब आपके फ़ोन में जाता है तो उसकी बैटरी पर बहुत असर पड़ता है उसके चार्जिंग मेकनिजम और सर्किट पर भी बहुत स्ट्रेस पड़ता है जो की आपकी फ़ोन की बैटरी लाइफ को कम कर देगा तो अवॉर्ड करें पावरबैंक इस्तेमाल करना जब आप घर में हों या जब आपके पास पावर आउटलेट या आपका चार्जर हो.

3 ऐप्लिकेशन का इस्तेमाल ना करे जो बहुत ज्यादा बैटरी ड्रेन करती हो

ऐसी कोई भी ऐप्लिकेशन का इस्तेमाल ना करे जो बहुत ज्यादा बैटरी ड्रेन करती हो और अपने फ़ोन की ब्राइटनेस को भी मीडियम पर रखें या काम पर रखे ऐसी ऐप्लिकेशन जो बैकग्राउंड में बहुत रिसोर्सेस लेती है ये पहले बहुत पता चल जाया करता था क्योंकि फ़ोन में बहुत लिमिटेड रैम हुआ करता था.

3 ऐप्लिकेशन का इस्तेमाल ना करे जो बहुत ज्यादा बैटरी ड्रेन करती हो
3 ऐप्लिकेशन का इस्तेमाल ना करे जो बहुत ज्यादा बैटरी ड्रेन करती हो

Read Also-वेब स्टोरीज की वजह से क्यों एडसेन्स अकाउंट ससपेंड हो रहे है जाने

आजकल राम की कोई कमी नहीं है और बैकग्राउंड में बहुत सारी एप्लिकेशन अब बहुत रैम लेती रहती है इससे क्या होता है की आपकी बैटरी का यूसेज बहुत बढ़ जाता है और आपको पता होगा कि लिथियम आयन बैटरी जितनी जल्दी इस्तेमाल होती है,

उतनी डिस्चार्ज होती है और दोबारा चार्ज करना पड़ता है और इससे बार बार चार्ज करने से बार बार उसकी चार साइकल्स ओवर हो जाती है जिससे उसकी लाइफ ओवर हो जाती है और आपको नई बैटरी बदलनी पड़ती है तो मेक शुर ऐसी कोई भी ऐप्लिकेशन ना इस्तेमाल करें जो बैकग्राउंड में बहुत ज्यादा रैम लेती हो, रिसोर्सेस लेती हों

4.चार्ज होते वक्त या इस्तेमाल करते वक्त तो अवॉइड करे

अगर आपका फ़ोन बहुत ज्यादा गर्म होता है चार्ज होते वक्त या इस्तेमाल करते वक्त तो अवॉइड करे ऐसा सिलिकॉन का या कोई भी बैककवर देखो ये आपके फ़ोन की सेफ्टी के लिए तो बुरी चीज़ है क्योंकि अगर वो गिर गया तो टूट सकता है लेकिन आपकी बैटरी की उसके हिसाब से देखा जाए तो आपका जो बैककवर होता है

वो आपके फ़ोन की हिट को अंदर ही ट्रैक करके रखता है और आपका फ़ोन ज्यादा गर्म होता है जितनी भी स्टडीज़ हुईं, उन्होंने यही कहा है कि बैटरी या लिथियम पॉलिमर बैटरी को जितना गर्म इन्वाइरनमेंट पर रखा जाएगा,

Read Also-MakeStories.io Will Paid | अब से आप Blogger पर Web Stories नहीं बना पाओगे- Blogger Web Stories

उसकी लाइफ उतनी कम हो जाएगी So Make Sure जब आप फ़ोन को चार्ज करें, गेमिंग करें तो उसमें बैककवर नहीं लगा होना चाहिए अगर आप ऐसा करते हैं तो अपनी बैटरी लाइफ को आप पच्चीस परसेंट तक बढ़ा सकते हो.

5.अपने फ़ोन को पच्चीस परसेंट से लेकर एटी फाइव परसेंट तक ही चार्ज करें

अपने फ़ोन को पच्चीस परसेंट से लेकर एटी फाइव परसेंट तक ही चार्ज करें यानी की जब आपका फ़ोन 25 परसेंट पर बैटरी तब उसको चार्ज में लगाया और उसे सिर्फ एटी फाइव तक ही चार्ज होने दें अगर आप ऐसा करते हैं तो कई लोग ये बोलते है की इससे चार्ज साइकल्स पूरी नहीं होती जबकि मैं आपको Bta Du ऐसा कुछ भी नहीं है.

5.अपने फ़ोन को पच्चीस परसेंट से लेकर एटी फाइव परसेंट तक ही चार्ज करें
5.अपने फ़ोन को पच्चीस परसेंट से लेकर एटी फाइव परसेंट तक ही चार्ज करें

Charge cyrcle पूरी होती है बट इसका जो मेन रीज़न वो ये है की बैटरी के ऊपर ज्यादा स्ट्रेस नहीं पड़ता जब अपनी बैटरी को एकदम ज़ीरो परसेंट पर ले जाते, हैं हंड्रेड परसेंट चार्ज करते हैं तो उस पे बहुत ज्यादा स्ट्रेस पड़ता है

और एक ऐसी एक्स्ट्रीम चार्जिंग हैबिट से आपके फ़ोन की बैटरी जल्दी खराब हो जाती है वो दो साल भी नहीं चलती यही वजह है कि आईफोन में ऑप्टिमाइज्ड चार्जिंग आई है जो अगर आप ज्यादा जरूरत नहीं है

तो सिर्फ एटी परसेंट तक ही चार्ज करती है उसके बाद ट्रिकल चार्ज करती है या अलग अलग तरह की टेक्नोलॉजी होती है जो की बैटरी को प्रिजर्व करके रखती है ये चीज़े ऐन्ड्रॉइड फ़ोन से भी देखने को मीलती हैं.

Read Also-MakeStories.io Will Paid | अब से आप Blogger पर Web Stories नहीं बना पाओगे- Blogger Web Stories

लेकिन उनकी चार्जर मेकनिजम है, जो की अलग अलग फ़ोन के हिसाब से अलग अलग हैं तो मेक शुर आप मैन्युअली भी अपने फ़ोन को पच्चीस परसेंट से लेकर सिर्फ एटी फाइव परसेंट तक की

जांच करें उसे हंड्रेड परसेंट तक ना ले जाएं अगर आप ऐसा करते हैं तो आपकी फ़ोन की बैटरी पांच साल तक लास्ट कर सकती है या शायद उससे ज्यादा भी

6.आपके घर में वाइ फाइ लगा हुआ है तो कोशीश ये करें कि आप वाइफाई इस्तेमाल करें

अगर आपके घर में वाइ फाइ लगा हुआ है तो कोशीश ये करें कि आप वाइफाई इस्तेमाल करें मोबाइल डेटा अगर आप इस्तेमाल करते हैं तो वो आपकी बैटरी ज्यादा लेता है क्योंकि मोबाइल डेटा को इस्तेमाल करने के लिए मॉडर्न अंदर का काम कर रहा होता है,

आपके फ़ोन का टॉवर से कम्यूनिकेट करना पड़ता है और बहुत सारी अंदर प्रक्रियाए और प्रोसिस चल रहे होते तो ये जो इस्तेमाल होता है.

6.आपके घर में वाइ फाइ लगा हुआ है तो कोशीश ये करें कि आप वाइफाई इस्तेमाल करें
6.आपके घर में वाइ फाइ लगा हुआ है तो कोशीश ये करें कि आप वाइफाई इस्तेमाल करें

वो बहुत बैटरी लेता है इन कंपैरिजन टु योर वाइ फाइ, वाइ फाइ आज कल बहुत ज्यादा स्मार्ट हो चुका है और पावर हो चूका है तो वो घर में रखे वाइफ इस्तेमाल करें अपने फ़ोन की बैटरी को बचाएं यहाँ पर केस वही है जितनी कम जल्दी आपकी बैटरी खत्म होगी,

डिस्चार्ज और चार्ज होगी ज्यादा उसकी लाइफ होगी अगर मोबाइल डेटा इस्तेमाल करेंगे तो जल्दी डिस्चार्ज होगी, फिर आपको चार्ज करनी पड़ेगी चार्ज साइकल जल्दी ओवर हो जाएगी और वो दो ढ़ाई साल में ही आपकी बैटरी दम तोड़ देगी सो मेक शुर यू यूज़ वाइफ

7. फास्ट चार्जिंग टेक्नोलॉजी

बहुत ज्यादा ऐसे फ़ोन आ गया है जो फास्ट चार्जिंग टेक्नोलॉजी को सपोर्ट करते है पांच मिनट में दस मिनट में पंद्रह मिनट में आपका फ़ोन फुल चार्ज हो जाएगा पर मैं आपको कहूँ ये आपकी बैटरी के सबसे बड़े दुश्मन हैं

कोई भी बैटरी हो वो अभी भी सेम टेक्नोलॉजी की आ रही है लेकिन चार्जिंग मेकनिजम चार्जिंग की टेकनीक बदल रही है भूप चार्जिंग टर्बोचार्जिंग डिस्चार्जिंग दैट चार्जिंग लेकिन बैटरी आज भी वही है जो दस साल पहले इस्तेमाल होती थी तो उसके में कोई टेक्नोलॉजी में बदलाव नहीं हुआ है

उन बैटरी इसको जितना जल्दी चार्ज किया जाता है, उतना उन पर स्ट्रेस पड़ता है चाहे आप हंड्रेड वोट की चार्जिंग ले लो नाइंटी वोट की चार्जिंग ले लो तो फास्ट चार्जिंग उस इंसान के लिए बनी हुई है जिसे कोई फर्क नहीं पड़ता कि बैटरी कितना लॉन्ग चले एक साल में ही खराब हो जाए मुझे कोई मतलब नहीं मुझे फ़ोन जल्दी चाहिए जिससे मैं ज्यादा इस्तेमाल करता हूँ

अगर आप ऐसे इंसान हो तो आप फास्ट चार्जिंग करते रहो कोई भी प्रॉब्लम नहीं है लेकिन अगर आप अपने फ़ोन को बहुत ज्यादा चलाना चाहते हैं बैटरी को अवॉर्ड करें फास्ट चार्जिंग अगर आपके फ़ोन के साथ फास्ट चार्जर आया है उसको हटा कर आप एक नॉर्मल टू. पॉइंट वन का चार्जर इस्तेमाल करें और आपका फ़ोन की बैटरी में गैरन्टी के साथ कहता हूँ कि पांच साल से ज्यादा भी निकल जाएगी.

मैं बहुत ही खतरनाक राज़ आपको बताने वाला हूँ इस Post के एंड में जो शायद आपको कोई नहीं बताएगा तो मेक शुर आप अपने फ़ोन को फास्ट चार्जिंग करना अवॉर्ड करें जब आपको इन्स्टंटली अपने फ़ोन को की जरूरत नहीं है और आप चार्ज होने का वेट कर सकते हैं

इससे आपकी बैटरी बहुत बढ़ जाएगी तो एक में खतरनाक आपको राज़ की बात बताता हूँ क्या आपको मालूम है हमारे जीतने भी फ़ोन बैटरीज है या लैपटॉप बैटरीज है ये कंपनियां जानबूझकर हमें जितनी वोल्टेज चार्ज करने के लिए चाहिए उससे कुछ ज्यादा ही वोल्टेज देते हैं.

 

6.आपके घर में वाइ फाइ लगा हुआ है तो कोशीश ये करें कि आप वाइफाई इस्तेमाल करें

जिससे की हमारे लैपटॉप की बैटरी या हमारे फ़ोन की बैटरी जल्दी खराब हो जाती है ये प्लैन होती है लैन्ड के बारे में आपको पता ही होगा ये कंपनियां जानबूझकर ऐसे प्रोडक्ट्स ऐसी चीज़े बनाती है की जल्दी खराब हो जाए वो ताकि आप इन के नए प्रॉडक्ट ले पाए सो लैपटॉप को चार्ज होता है

अगर उसकी हल्की सी वोल्टेज कम कर दी जाए तो आपके लैपटॉप की बैटरी शायद डबल चलें या आपके फ़ोन की अगर चार्जिंग वोल्टेज हल्की सी कम करके उसको चार्ज किया जाए टेक्निकली तो वो ज्यादा लास्ट करेगी लेकिन ये ज्यादा वोल्टेज देते हैं ताकि आपकी फ़ोन की बैटरी ज्यादातर जल्दी चार्ज हो, चार्ज हो और जल्दी ही खराब भी हो जाए तो ये बहुत ही खतरनाक बात है

क्या आपको पता है कि जब आप अपने फ़ोन में दूसरी बैटरी लगवाने जाते हैं? लोकल बैटरी या तो रिप्लेसमेंट वाली ओरिजिनल बैटरी वो कभी भी आपको ऐसा बैकअप नहीं देगी जब आपका फ़ोन नया आया था इसके पीछे वजह यह है कि ये कंपनियां कभी भी ऐसी बैट्रीज बनाती ही नहीं है रिप्ले


समेंट वाली जो की ओरिजनल बैटरी जॉब के फ़ोन के साथ लग की आती है

उसकी टक्कर कर सके बिल्कुल नहीं ये इसलिए होता है ताकि आप नया फ़ोन खरीदे और बैटरी बदलकर ही अपने फ़ोन को दस बारह साल ना चलाये सॉफ्टवेयर के हिसाब से भी आपको ऐसा बाधित कर देते है की आपको नया फ़ोन लेना ही पड़ता है ये चाहे तो दस दस साल तक सॉफ्टवेर अपडेट दे सकते हैं

और मैं आपको बताऊँ आज से सात साल पहले कोई डिवाइस बना था वो भी अब शायद कैपेबल है कि इसमें नया लेटेस्ट ऐंड्रॉयड आ सके लेकिन यह कंपनी ऐसा नहीं करती ताकि आप नया फ़ोन खरीदे, उनकी सेल्स हो अगर एक ही फ़ोन दस साल चलाते रहो गे तो इनका प्रॉफिट कहा जाएगा यहाँ पर मैंने बैटरी से रिलेटेड आपकोबहुत कमाल की जानकारी दी

 

by Mahi Mahi is the Author & Co-Founder of the Openplus.in. He has also completed his graduation in Computer Engineering from Delhi

Leave a Comment